पुलिस वालों की हैवानियत का एक और रूप सामने आया, जिसे देख कर आपके आँखों में आंसू आ जायेंगे….

161

पुलिस वालों की हैवानियत का एक और रूप सामने आया, जिसे देख कर आपके आँखों में आंसू आ जायेंगे….

यह घटना लखनऊ के हज़रतगंज जीपीओ इलाके में दोपहर 2 बजे घटी . यहां कुछ लोग सड़को के किनारे टाइपिंग कर के अपना गुजारा चलाते हैं. यहां सचिवालय एवं अन्य सरकारी दफ्तरें हैं. इसलिए कुछ लोग सड़को के किनारे टाइपिंग कर के अपना गुजारा चलाते हैं. जहां पुलिस इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने बुजुर्ग कृष्ण कुमार के टाइपराइटर को पैरों से मार-मार कर तोड़ दिया . वही कृष्ण कुमार कुछ फीट की दूरी पर खड़े हो कर हाथ जोड़ कर इंस्पेक्टर से लाख मिन्नतें मंगाते रहे पर इंस्पेक्टर ने उनकी एक ना सुनी . पहले तो इंस्पेक्टर ने उनका टाइपराइटर तोड़ा फिर वह कृष्ण कुमार के साथ बदसलूकी करने लगा .

krishn kumar typist
sorce-www. facebook.com

इस पुरे घटना-क्रम को युवा फ़ोटो जर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी ने अपने कैमरे में कैद कर लिया . इस पर इंस्पेक्टर ने आशुतोष को भी धमकाया की यह जो तुमने फ़ोटो ली हैं उसे डिलीट कर दो लेकिन आशुतोष ने बोला कि आपने गलत किया हैं और यह फ़ोटो डिलीट नहीं होगी . इस पर इंस्पेक्टर ने अकड़ कर बोला- ‘ऐसा करो, मेरे फोटो के साथ मेरा नाम बड़े-बड़े अक्षरों में लिखना, ताकि एसएसपी भी मेरे बारे में जान सकें.’

ashutosh tripathi
फ़ोटो जर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी

इस घटना से संबंधित सभी फ़ोटो आशुतोष ने सोशल नेटवर्किंग साईट फेसबुक पर पोस्ट कर दिया . जिससे इस घटना को लेकर चारों तरफ से पुलिस कि आलोचना होने लगी . जिससे प्रशासन ने भी इस घटना को गंभीरता से लिया और इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार को सस्पेंड कर दिया . बाद में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने डीएम राज शेखर को आदेश दिए कि कृष्ण कुमार के घर जा कर उन्हें नया टाइपराइटर दिया जाए.

TypeWriter_Lucknow-
source- www.thebetterindia.com

इस घटना को दुनियां के नज़र में लाने वाले फ़ोटो जर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी सहीं में प्रशंसा के पात्र हैं . इन्होंने अपने कैमरे से सोशल मीडिया में एक नई क्रांति ला दी और यूपी सरकार को एक्शन लेने पर विवश कर दिया.

इस घटना से यह साबित होता है कि अगर हम सोशल मीडिया का इस्तेमाल मौज-मस्ती के अलावा देश और समाज के मुद्दें पर करे तो हम इससे बड़ा से बड़ा बदलाव ला सकते हैं.

आपलोगों का इस घटना पर क्या राय हैं? अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं.

Comments

comments