आखिर सूरज पंचोली ने जिया खान को ले कर अपनी चुप्पी तोड़ी . पढ़िए क्या कहा उन्होंने :

108

आखिर सूरज पंचोली ने जिया खान को ले कर अपनी चुप्पी तोड़ी . पढ़िए क्या कहा उन्होंने :

हम सभी जिया खान के चर्चित आत्महत्या के ख़बर से परिचित है, जो 30 जून, 2013 को घटित हुआ था . इसके अब लगभग 2 वर्ष हो चुके है जब बॉलीवुड ने अपने एक प्रतिभाशाली अभिनेत्री को खो दिया था . पहले तो यह ख़बर आई कि यह एक आत्महत्या नहीं है . जिसमे पुलिस द्वरा उनके बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली को आरोपी बनाया गया लेकीन बाद में वह इस केस से बरी हो गये . लेकिन एक बार से यह चर्चित आत्महत्या सुर्ख़ियों में आ गया है क्योंकि इस बार के इस मामले को ले कर जिया खान के पूर्व बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है .

suraj-jiah
Image Source: Facebook.com

सलमान खान जो कि सूरज पंचोली के गॉडफादर है . उन्होंने ने सूरज को सलाह दिया है कि अपनी पहली फ़िल्म रिलीज़ होने से पहले वह मीडिया के सामने जाए और जिया खान और उनको लेकर जो लोगों के बिच जो बातें है उसे स्पष्ट कर लेना चाहिए क्योंकि बाद में लोग कुछ और न समझ ले .

suraj jiah
Image Source: indianexpress.com

अपनी पहली आगामी फ़िल्म से पहले से वह इस घटना को लेकर अपना पक्ष स्पष्ट कर ले रहे है यह बेहतर है क्योंकि इससे लोगो कि ग़लतफमियां दूर हो जाएँगी और पुराने घावों को फिर से कुरेदा नहीं जायेगा . हाल में ही जब एक इंटरव्यू में जब जिया खान आत्महत्या केस में उन पर लगे आरोपो पर चर्चा हुई थी तब उन्होंने कहा कि “ मेरा नाम हमेशा उनके नाम के साथ जोड़ा जायेगा और इसके लिए मुझे कोई पछतावा नहीं है . मैं इससे खुश हूँ कि आखिर कुछ तो है उनका जो हमेशा मेरे साथ रहता है . मैं दुखी हूँ की उन्होंने अपनी ज़िन्दगी समाप्त कर ली लेकिन उनका नाम मेरे साथ है और इससे मुझे कोई दिक्कत नहीं है .

सूरज पंचोली ने आगे ये भी कहा कि उन उन्हें गुज़रे हुए 2 वर्ष हो चुके है लेकिन अब भी वो उन्हें मिस करते है . उन्होंने ने कहा कि “मैं उन्हें मिस करता हूँ . मैं अपने ज़िन्दगी के हर रोज उन्हें मिस करता हूँ . मैं इस वक़्त भी उन्हें मिस कर जब आपके साथ बैठा हूँ . अगर मैं जिससे इतना ज्यदा प्यार करता था तो उसे मिस करूँगा ही . वह मेरे से 5 वर्ष बडी थी . मेरे ज्यादा परिपक्व भी थी! जब मैं 21 वर्ष का था तब वह 26 वर्ष की थी . मेरे से ज्यादा वह इस इंडस्ट्री को जानती थी .

आप क्या सोचते है सही में सूरज पंचोली को उनके चले जाने का अफ़सोस है या यह बस पब्लिसिटी स्टंट है?

Comments

comments