जानिए पाकिस्तान में इंसानों के मरने से पहले ही क्यों खोदी जा रही है कब्रें

65

जानिए पाकिस्तान में इंसानों के मरने से पहले ही क्यों खोदी जा रही है कब्रें

पिछले साल पाकिस्‍तान में भयंकर लू चलने से 1,300 से ज्‍यादा लोगों की जान चली गई थी. इसी को देखते हुए इस बार कब्र खोदने वालों से तीन बड़ी-बड़ी खाईं खुदवाई गई हैं ताकि करीब 300 शवों को दफनाया जा सके. पिछले साल तापमान 44 डिग्री सेल्सियस पार कर गया था. दो करोड़ लोगों की आबादी वाले शहर में अचानक से अस्‍पतालों और कब्रिस्‍तानों में भीड़ बढ़ गई थी.

source- Reuters
source- Reuters

पाकिस्‍तान के मौसम विभाग ने पिछले साल जैसे बुरे हालातों की आशंका नहीं जताई है, लेकिन कराची में अफसर बुरे से बुरे हालात का सामना करने की तैयार कर रहे हैं.कराची के कमिश्‍नर आसिफ हैदर शाह ने बताया कि करीब 60 अस्‍पतालों में अब लू से पीड़ि‍त 18,50 मरीजों के इलाज की क्षमता है.

source- Reuters
source- Reuters

कराची के कब्रिस्‍तानों में पिछले साल अफरातफरी का माहौल था. कब्र खोदने वालों ने कड़ी धूप में काम करने से मना कर दिया और सामान्‍य से पांच गुना ज्‍यादा कीमत वसूली.

source- Reuters
source- Reuters

कराची में रहने वाले कुछ लोगों का कहना है कि स्थिति की भयावहता इस पर निर्भर करती है कि रमजान के महीने में लू चलती है या नहीं. क्‍योंकि पाकिस्‍तानी कानून के मुताबिक, इस पूरे महीने सावर्जनिक जगहों पर कुछ भी खाना-पीना गैरकानूनी है. आपको यहां बता दे कि पिछले साल सबसे ज्यादा मौतें रमजान के महीनें में ही हुई थी. क्योंकि पाकिस्तान में इस कानून तहत सार्वजनिक जगहों पर कुछ खानें-पीनें का सामान मिल नहीं था. जिसके कारण सबसे ज्यादा जानें रमजान में ही गई थी.

news source- Reuters

इस पोस्ट से जुडी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं.

Comments

comments