सूखें के कगाड पर खड़ा देश, जानिए देश के जलाशयों अब सिर्फ कितना प्रतिशत पानी बचा हैं?

78

सूखें के कगाड पर खड़ा देश, जानिए देश के जलाशयों अब सिर्फ कितना प्रतिशत पानी बचा हैं?

देश के 91 प्रमुख जलाशयों में जलस्तर घटकर उनकी कुल क्षमता के 16 फीसदी पर आ गया है. केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय के मुताबिक, 9 जून को इन जलाशयों में 24.85 अरब घन मीटर (बीसीएम) पानी उपलब्ध था.

source- patrika.com
source- patrika.com

इन 91 जलाशयों की कुल भंडारण क्षमता 157.799 बीसीएम है, जो देश की अनुमानित जल भंडारण क्षमता 253.388 बीसीएम का लगभग 62 प्रतिशत है. 37 प्रमुख जलाशयों में पनबिजली संयंत्र लगे हैं जिनकी क्षमता 60 मेगावाट से अधिक है.

पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में जिन राज्‍यों में जल भंडारण की स्थिति बेहतर है उनमें आंध्र प्रदेश, त्रिपुरा और राजस्थान शामिल हैं.

पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में जिन राज्‍यों में जल भंडारण कम रहा उनमें हिमाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, पंजाब, पश्‍चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, छत्‍तीसगढ़, तेलंगाना, तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल शामिल हैं.

आपको बता दें कि भारत की एक चौथाई आबादी पानी की कमी से जूझ रही है. विश्व बैंक के एक नए अध्ययन के अनुसार पानी की कमी और जलवायु परिवर्तन के कारण 2050 तक भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को छह प्रतिशत का नुकसान हो सकता है.

इस समय देश के दस राज्य सूखे की मार झेल रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट में एनडीए सरकार द्वारा सूखे पर दायर हलफनामे के अनुसार भारत की 33 करोड़ आबादी सूखे की चपेट में है.

हालांकि इस बीच एक अच्छी खबर आई है. गुरुवार को मौसम विभाग ने संभावना जाहिर की है कि इस बार सामान्य से अधिक बारिश होगी.

इस पोस्ट से जुडी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं.

 

Comments

comments