खाने के शौकीनों के लिये से देश भर से कुछ मशहूर बिरयानी

427

खाने के शौकीनों के लिये से देश भर से कुछ मशहूर बिरयानी

बिरयानी के स्वाद से आप सब लोग वाकिफ तो होंगे ही. आप चाहे वैजिटेरियन हो या नॉन-वैजिटेरियन, आपको ये हर अंदाज में मिल जाएगी. बेहतरीन स्वाद के साथ ही यह ढेर सारी वैराइटीस में उपलब्ध है. भारत में हर जगह बिरयानी को एक अलग तरीके से बनाया जाता है, और यही उसकी ख़ास पहचान बन जाती है. इनको बनाने का हर एक का अपना अलग तरीका और जायका होता है.

आइये जानते हैं देश भर से मशहूर ऐसी ही कुछ बिरयानी:

लखनवी बिरयानी:

lucknowi-biryani
source:finelychopped

लखनऊ नवाबों का शहर कहलाता है. जो खाने खिलाने के बड़े शौक़ीन हुआ करते थे. बिरयानी उनके पसंदीदा व्यंजनों में शुमार होती थी. लखनवी बिरयानी अपने हल्के मसालों और बेहतरीन स्वाद के लिये बहुत मशहूर है. लखनऊ जाना हुआ तो इसका टेस्ट जरुर लीजियेगा.

मुगलई बिरयानी:

mughlai biryani
source:scoopwhoop

यह बिरयानी मुग़ल शासकों की रसोई से निकली हुई है, इंडिया से इस व्यंजन का परिचय पारसी राजाओं ने कराया जो मांस को चावल के साथ पकवाते थे. जिसे मुगल शासकों ने अपनी रसोई में ख़ास जगह दी. यह मुगलई बिरयानी दिल्ली और आस-पास के क्षेत्रों में बहुत स्वाद के साथ खाई जाती है,

हैदराबादी बिरयानी:

hyderabadi-biryani
source:buzzintown

हैदराबाद के निजाम एक देशभक्त मुगल था. उसकी छाप इस व्यंजन में देखने को मिलती है, यह बिरयानी मुगलई बिरयानी और दक्षिणी क्षेत्र की शैली का मिश्रण है. यह काफी मसालेदार और तीखी होती है.

अम्बुर बिरयानी:

Ambur-biryani
source:recipeshubs

अम्बुर तमिलनाडु का एक छोटा शहर है. यह शहर में दक्षिणी भारत की सबसे अच्छी प्रकार की बिरयानी बनाने के लिए प्रसिद्ध है. अम्बुर शहर में दुनिया में किसी भी महानगर की तुलना में प्रति किलोमीटर अधिक बिरयानी दुकानें हैं. जहाँ आपको अलग-अलग प्रकार की स्वादिष्ट बिरयानी मिलेगी.

सिंधी बिरयानी:

Sindhi biryani
source:dawn

सिंध जो अब पाकिस्तान का एक राज्य है और यह अपने ख़ास पकवानों के लिये प्रसिद्ध है, सिंधी बिरयानी के में बड़ी मात्रा में दही का उपयोग किया जाता है, जो इसके स्वाद को बेहद लजीज बनाता है.

कोलकाता बिरयानी:

kolkata-biryani
source:missionsharingknowledge

1857 के विद्रोह के बाद लखनऊ के नवाबों को कोलकाता (तब कलकत्ता) निर्वासित कर दिया गया. निर्वासन के समय मांस दुर्लभ था अतः नवाबों के रसोईयों ने बिरयानी में आलू मिलाना शुरु किया. यही कारण है कि वर्तमान समय में कोलकाता बिरयानी में मांस के साथ-साथ आलू भी शामिल है.

आप भी एक बार अपनी पसंदीदा बिरयानी के अलग-अलग स्वादों का मजा जरुर लीजियेगा. इस आर्टिकल से जुड़ी अपनी राय आप नीचे कमेंट बॉक्स में शेयर कर सकते हैं.

Comments

comments